वीजा की टेंशन लिए बिना घूम सकते हैं इन देशों में, आज ही करें अपने इमीग्रेशन सलाहकार से बात

0

विदेश में घूमने के लिए जाने, पढाई करने, रहने या काम करने जाने की इच्छा भला किसकी नहीं होती, परन्तु VISA आवेदन के सख्त नियमों के चलते अधिकतर लोग इस अवसर से वंचित रह जाते हैं। दरअसल सही नियमों की जानकारी न होना इस परेशानी का मुख्य कारण है। यदि आप भी विदेश जाने की इच्छा रखते हैं तो आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि आप बिना वीजा के भी बहुत-से देशों की यात्रा कर सकते हैं, बस जरूरत है तो एक ऐसे Immigration सलाहकार की जो आपको सही राय देकर आपके डाक्यूमेंट्स को कानूनी तरीके से प्रोसेस करवा सके।

जिन देशों में बिना वीजा के यात्रा की जा सकती है, इससे पहले कि हम उन देशों का जिक्र करें, आइए पहले जान लेते हैं कि वीजा क्या होता है, कितने प्रकार का होता है, वीजा के लिए आवेदन कैसे करते हैं और कैसे बिना वीजा के भी इन देशों की यात्रा की जा सकती है:

वीजा कैसे मिलता है – How To Apply For VISA

वीसा क्या होता है: विदेश यात्रा करने के लिए आपको मुख्य तौर पर दो तरह के Documents की जरूरत होती है – पासपोर्ट और वीजा। Passport बनवाने की प्रक्रिया तो बेहद सरल है परन्तु VISA Apply करने के लिए आपको काफी भागदौड़ करनी पड़ सकती है। अंग्रेजी भाषा में वीजा का फुल फॉर्म है – Visitors International Stay Admission – यानि Visa एक ऐसा दस्तावेज या Permission Letter है जो किसी भी अन्य देश में यात्रा करने के लिए जरूरी होता है।

visa in hindi, visa kya hota hai

VISA Apply करते समय आपको यह बताना होता है कि आप फलां देश की यात्रा किस मकसद से कर रहे हैं और कितने समय तक उस देश में रहना चाहते हैं। अधिकतर देशों के मामले में वीजा पासपोर्ट पर एक मुहर के रूप में अंकित किया जाता है, परन्तु कई मामलों में यह एक अलग लिखित दस्तावेज भी हो सकता है।

वीसा अप्लाई कैसे करें: किसी भी देश का वीजा बनवाने के लिए उस देश की Embassy या Consulate से सम्पर्क करके अपने डाक्यूमेंट्स को जमा करवाना होता है। Travel VISA के मामलों में अक्सर ट्रेवल एजेंसियां इसका इंतजाम कर देती हैं। इसी तरह कई देशों ने VISA Application इकठ्ठा करने और उनकी शुरुआती स्क्रीनिंग करने का काम प्राइवेट एजेंसियों को सौंप रखा है, इन एजेंसीयों के माध्यम से आप अपने डॉक्यूमेंट जमा करवाकर वीजा की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं।

वीजा कितने प्रकार का होता है – Types Of VISA

मुख्य तौर पर दो तरह के वीजा होते हैं – Immigrant VISA और Non-Immigrant VISA – यदि कोई व्यक्ति एक सीमित अवधि के लिए विदेश जाना चाहता हो तो नॉन-इमिग्रेंट वीजा के तहत जा सकता है, परन्तु यदि वह वहां जाकर स्थाई तौर पर बसना चाहता हो तो इसके लिए उसे इमिग्रेंट वीजा अप्लाई करना होगा। इन दोनों केटेगरी के तहत अन्य कई प्रकार के वीजा होते हैं जो विदेश जाने के मकसद और रहने के समय पर निर्भर करते हैं।

visa kitne type, travel visa kaise, fatehabad immigration consultant

Transit VISA: ट्रांजिट वीजा अधिकतम पांच दिनों तक के लिए वैलिड होता है, यह तब जारी किया जाता है जब किसी देश में जाने के लिए तीसरे देश में सो होकर गुजरना हो।

Tourist VISA: ट्रेवल वीसा उन लोगों के लिए इशू होता है जो घूमने-फिरने के मकसद से विदेश जाना चाहते हों। ट्रेवल वीजा पर जाने वाला व्यक्ति उस देश में जाकर किसी भी तरह की नौकरी या व्यवसाय नहीं कर सकता है।

Business VISA: यदि आप विदेश में जाकर बिजनेस करना चाहते हैं या किसी कम्पनी में हिस्सेदारी डालना चाहते हैं तो आपको इसके लिए बिजनेस वीजा अप्लाई करना होगा, परन्तु इस तरह के वीजा के लिए नियम-कायदे बेहद सख्त होते हैं और अच्छा-खासा टर्नओवर दिखाना होता है।

Temporary Worker VISA: विदेश में जाकर जॉब करने के लिए टेम्पररी वर्कर वीजा की जरूरत होती है, बिजनेस वीजा की तरह ही इसे हासिल करना भी थोड़ा मुश्किल होता है पर यह बिजनेस वीजा की तुलना में कुछ ज्यादा अवधि के लिए वैलिड होता है।

Partner VISA: विदेश में रहने वाला शख्स अगर अपने पति/पत्नी को अपने पास रहने के लिए बुलाना चाहता है तो उसके लाइफ-पार्टनर को ‘पार्टनर वीजा’ हासिल करने की आवश्यकता होती है।

Study VISA: विदेश में जाकर पढाई करने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों को हायर स्टडी, डिग्री, डिप्लोमा या किसी सर्टिफाइड प्रोफेशनल कोर्स में दाखिला लेने के लिए स्टूडेंट वीजा अप्लाई करना होता है, इसके लिए स्टूडेंट को सम्बंधित यूनिवर्सिटी या कॉलेज से सम्पर्क करके निर्धारित डॉक्यूमेंट हासिल करने होते हैं।

Journalist VISA: पत्रकारिता से जुड़े लोग अपनी न्यूज़ ऑर्गेनाइजेशन के माध्यम से विदेश में अपना असाइनमेंट कवर करने के लिए जा सकते हैं।

इन वीजा के अलावा Marriage VISA, Pension VISA, Diplomatic VISA आदि लगभग 185 तरह के विभिन्न वीजा प्रचलन में हैं जिनके लिए सभी देशों के लिए अलग-अलग नियम कायदे हैं।

इन देशों में जाने के लिए नहीं है वीजा की जरूरत

हर देश के passport का एक निश्चित पासपोर्ट पावर रैंक होता है, जो कि इस बात पर निर्भर करता है कि उस देश का नागरिक पासपोर्ट के माध्यम से बिना वीजा के कितने देशों में ट्रेवल कर सकता है। जिन देशों के साथ ऐसी विशेष संधि हो, या जिन देशों को MFN (Most Favored Nation) का दर्जा हासिल हो उन देशों में बिना किसी वीजा के ट्रेवल किया जा सकता है या वहां के एयरपोर्ट पर लैंड करते ही VISA on Arrival की सुविधा मिल जाती है। भारत की बात करें तो भारतीय नागरिक लगभग 59 देशों में बिना वीजा के ट्रेवल कर सकते हैं:

भूटान, ग्रेनेडा, हांगकांग, जमैका, माइक्रोनेशि‍या, नेपाल, नेऊ, ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड, कुक आइलैंड, डोमनि‍क, अल सल्वाडोर, सेंट किट्स एंड नेविस, सेंट विन्सेट एंड द ग्रेनाडाइन्स, समाओ सेशेल्‍स, त्रिनिदाद एंड टोबैगो, टर्क्स एंड काइकोस, वनुआटू आदि।

इसके अलावा कम्बोडिया, जॉर्डन, केन्या, लाओस, मेडागास्कर, मालदीव, मॉरीशस, पलाउ, थाईलैंड,टुवालू, युगांडा, केप वर्डे, कोमरोस, इक्वाडोर, इथोपिया, फि‍जी, इंडोनेशिया आदि देशों में भारतियों के लिए वीजा-ऑन-अराइवल की सुविधा उपलब्ध है। इसके लिए आपको बस एक योग्य इमिग्रेशन सलाहकार की राय लेनी होगी।

वर्क परमिट और फ्री वीजा कंसल्टेंसी के लिए इन नंबरों पर कॉल करें

यदि आप किसी भी देश में स्टडी करने, घूमने या Work Permit लेकर नौकरी करने के लिए जाना चाहते हैं तो आप इन नंबरों पर सम्पर्क करके मुफ्त परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप किसी देश में उपलब्ध रोजगार के अवसरों, वैकेंसी इत्यादि के बारे में जानना चाहते हैं तो अपनी क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस दर्ज करवाकर अपने व्हाट्सएप नंबर पर नए अवसरों से संबंधित अपडेट भी पा सकते हैं:

Call for FREE VISA Consultancy: 9268367533, 8607209270

Leave A Reply

Your email address will not be published.